Header Ads

Big Breaking: बालू लदे ट्रक ने माँ के साथ जा रहे भोजपुरी गायक को रौंदा, मौके पर दर्दनाक मौत ..



कैमूर टॉप न्यूज़,दुर्गावती: कैमूर जिले से इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है. दुर्गावती थाना क्षेत्र अंतर्गत डुमरी गांव स्थित नहर चौराहे के पास बुधवार को बालू लदे बेकाबू ट्रक ने दो लोगों को रौंद डाला. जिसके चलते उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई. बताया जा रहा है कि दोनों माँ-बेटे हैं. घटना में  युवक भोजपुरी गायक का उभरता सितारा बताया जा रहा है वह अपनी मां के साथ बाइक से कहीं जा रहा था इसी दरम्यान इस घटना का शिकार हो गया. घटना में दोनों के चिथड़े उड़ गए थे. घटना के बाद आसपास के ग्रामीण वहा जुट गए. घटना के बाद गुस्साए लोगों ने सड़क को जाम कर दिया.


घटनास्थल पर पहुंचे दुर्गावती थानाध्यक्ष सुहेल अहमद ने पुलिस बलों के साथ  पहुंचकर आक्रोशित लोगों को समझाने बुझाने के प्रयास में लग गये. पुलिस की बातों को भी आक्रोशित नहीं मान रहे थे. थानाध्यक्ष ने इस घटना की सूचना वरीय अधिकारी को दी सूचना मिलते ही  मोहनिया डीएसपी रघुनाथ सिंह अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए. ग्रामीणों को समझा बुझाकर 3 घंटे बाद जीटी रोड से शव को  उठाया गया.

 मृतकों के नाम मोनू चौबे (23वर्ष) तथा सविता देवी (55 वर्ष) बताए गए हैं, जो रामगढ़ थाना क्षेत्र के सुल्तानपुर गांव के निवासी बताए जा रहे हैं. यह दुर्घटना दिन के रामगढ़ रोड डुमरी नहर चौराहे के के सामने घटी. बताया जा रहा है कि दोनों मां और बेटे मोटरसाइकिल पर सवार होकर दवा के लिए वाराणसी जा रहे थे. इसी दौरान काफी तेज रफ्तार से बालू लदे ट्रक बाइक को टक्कर मारते हुए शव को रौंदते हुए भागने का प्रयास किया लेकिन शव गाड़ी में फस जाने के कारण चालक और खलासी जब तक गाड़ी छोड़कर भागने का प्रयास किया. तबतक ग्रामीणों ने दौड़ाकर दोनों को पकड़ लिया. टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि उस बाईक पर सवार दोनों लोग घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. 

भोजपुरी गायकी का उभरता सितारा था मोनू:

मालूम हो कि मृतक बिहार में मोनू चौबे भोजपुरी गीत के उभरता सितारा था जिसने अपना जलवा 24 नवंबर को कैमूर पुलिस के नाम कार्यक्रम 23 मार्च को आ स्थापना दिवस पर स्टेज पर बिखेरा था. मोनू चौबे ने बचपन से ही गीत में रुचि रखता था. बचपन के साथी रहे अनुराग राज ने बताया कि वर्तमान में वह बीएचयू से म्यूजिक की पढ़ाई शुरू कर रहा था. उसने अभी तक 300 से ज्यादा स्टेज प्रोग्राम कर लिया था. उसने अपने गायकी से घर का खर्च भी चला लेता था. मोनू काफी कम उम्र में बिहार की धरती पर भोजपुरी गीत मैं अपना जान पहचान बना ली थी. उसकी शोहरत अन्य प्रांतों में भी होने लगी थी. मोनू ने मौत से पूरा कैमूर आहत है.


कैमूर टॉप न्यूज के लिए मुबारक अली की रिपोर्ट



No comments