Header Ads

Big Breaking: बच्ची का शव मिलने के बाद आक्रोशित हुए लोग फूंक रामगढ़ थाना, पुलिसकर्मी घायल, स्थिति तनावपूर्ण ..



  • कैमूर टॉप न्यूज़, रामगढ़: मोहनिया के समीप रेलवे ट्रैक पर एक बीए की छात्रा का शव मिलने से सनसनी फैल गई. इस घटना के बाद बाद लोग आक्रोशित हो गए तथा उत्पात मचाना शुरू कर दिया. 


आक्रोशित लोगों ने रामगढ़ दुर्गा चौक के समीप शव को रखकर सड़क जाम कर दिया, तत्पश्चात टायर फूंक कर आक्रोष प्रदर्शित करना शुरू कर दिया. इसी बीच उपद्रवियों ने रामगढ़ थाने में प्रवेश कर थाने में आग लगा दी. आग की चपेट में दो पुलिस वाहन तथा दो बाइक जलकर राख हो गए. वहीं, एक पुलिसकर्मी दीनदयाल पांडेय भी घायल हो गए. घटना की सूचना मिलते हैं डीएसपी रघुनाथ सिंह स्वयं मौके पर पहुंच गए तथा स्थिति को नियंत्रण में लेने के प्रयास में जुट गए हैं. वहीं काफी संख्या में पुलिसकर्मी स्थिति को नियंत्रण में लेने के लिए प्रयासरत है. 

मृत बच्ची के परिजन हत्यारों की गिरफ्तारी मुआवजा तथा बच्ची के परिजनों में से किसी को सरकारी नौकरी देने की मांग कर रहे हैं. समाचार लिखे जाने तक माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है तथा आक्रोशित परिजनों को समझाने बुझाने का कार्य किया जा रहा है.



1 comment:

  1. 👉सबसे जरूरी एवं आवश्यक सूचना
    आज फिर एक दलित बेटी को साजिश का शिकार बनाकर मार दिया गया दरअसल यह घटना कैमूर जिले के रामगढ़ प्रखंड के बडौरा गांव की है घटना घटने का समय 16 जनवरी शाम 4:00 बजे गांव वाले एवं परिजनों का कहना है कि इस बच्ची के पापा बाहर रहते हैं जो कि बच्ची के खाते में पैसा डाले थे इस पैसे को निकालने हेतु बच्ची लगभग 1 महीने से लगातार बैंक का चक्कर लगा रही थी लेकिन बैंक मैनेजर लड़की का बात नहीं सुन रहा था तो लड़की ने इस बात से नाराज होकर रामगढ़ थाने पर एफ आई आर दर्ज की इसके बाद पुलिस ने मैनेजर से पूछताछ किया और चली गई तब मैनेजर ने लड़की और उसकी मां को बुलाया और कहा कि केस वापस ले लो हम तुम्हारा पैसा निकाल देंगे लड़की उसके बाद से सहमत हो गई और बोली कि हम केस वापस लेने के लिए सहमत हैं मां और बेटी जाने लगे तभी बैंक मैनेजर ने कहा कि मां आप मत जाइए मैं खुद आपकी बेटी को ले जाता हूं और केस वापस करा कर आता हूं मां ने कहा कि हमारी बेटी को कुछ हो जाएगा तो मैनेजर ने कहा कि आपकी बेटी हमारी बेटी है इसे कुछ नहीं होगा मैनेजर अपने गाड़ी से लड़की को लेकर गया लड़की केस वापस ले ली केस वापस लेने के बाद बेटी को पीटा और बोला कि तुम चमार की औकात जो हम राजपूत पर केस कर दो इसके बाद लड़की को मोहनिया वाला रोड में ले जाया जाने लगा गांव वाले एवं परिजन का कहना है कि लड़की अपने भाई के मोबाइल पर फोन की थी और बोली कि भैया मुझे यह लोग दूसरी ओर ले जा रहे हैं तभी मोबाइल छीन लिया गया इसके कुछ समय बाद लड़की का रेप कर उसे मोहनिया रेलवे लाइन पर फेंक दिया गया था जिसकी पहचान कर लोगों ने गांव पर फोन किया परिवार वाले लड़की को लेकर बनारस हॉस्पिटल में भर्ती कराया जहां लड़की ने दम तोड़ दिया l

    ReplyDelete