Header Ads

डीएम-एसपी ने की संयुक्त प्रेस वार्ता, बताया-एसआईटी का गठन कर की जा रही है मामले की जांच ..



कैमूर टॉप न्यूज़, रामगढ़: युवती की मौत के बाद हुए हंगामें पर  डीएम और एसपी ने रामगढ़ थाने में संयुक्त प्रेसवर्ता की. 

उन्होंने बताया कि युवती की मौत को लेकर भीड इतनी उग्र हो गई कि पुलिस वालो को दौडा-दौडा कर पीटा. जिसमें मोहनियां डी.एस.पी सहित 9 पुलिस के जवान जख्मी हो गए जिसको बनारस रेफर किया गया. भीड ने छोटी बड़ी 87 वाहनों को आग के हलावे कर दिया घंटो रामगढ़ में बवाल होते रहा. पुलिस वालों पर भीड भारी पड़ी जिसको लेकर 80 नामजद और सैकड़ों पर केस दर्ज किया गया. 200 पुलिसकर्मियों को तैनाती कि गई. 

एसपी ने बताया कि घटना को लेकर उनके नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया है. प्रशासन ने बताया कि युवती 16 जनवरी को मोहनियां स्टेशन पर ट्रेन के आगे आ गई.जिससे युवती घायल हो गई फिर परिजनो को बुलाकर मोहनियां इलाज के बाद बनारस रेफर किया गया जहाँ उसकी मौत हो गई. ट्रेन के ड्राइवर ने लिखित रूप में यह बात मोहनियां जीआरपी को दी थी. वहीं दुसरा पहलू है कि मृतका के परिजनों का कहना है कि शशिकला एक सप्ताह से सी.एस.पी से पैसे निकालने को लेकर परेशान थी. लिंक नहीं रहने के कारण 4 हजार रूपया नहीं निकला था अंत में युवती ने सीएसपी संचालक के खिलाफ थाने में आवेदन दिया. फिर संचालक ने युवती को पैसे देने और आगे से गलती नहीं करने की बात कहते हुए उसे साथ में थाने आया तथा आवेदन वापस कराने के बाद उसके साथ दुष्कर्म कर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया जिससे युवती को सर और हाथ में गम्भीर चोट आई. बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. आरोपी के खिलाफ कार्रवाई कि मांग कर रहे हैं. मामला इतना उलझ गया है कि प्रशासन भी काफी परेशान है. अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार हो रहा है. रिपोर्ट आने के बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि क्या सच और क्या झूठ है.

कैमूर टॉप न्यूज के लिए रामगढ़ से अभिषेक राज की रिपोर्ट



No comments