Header Ads

खेल के मैदान के आभाव में प्रतिभाओं का दमन

कैमूर टॉप न्यूज़,कैमूर: चॉद मे खेल मैदान आज तक नही बन पाया . जिसके वजह से बच्चे आज भी ब्लाक के जमीन पर खेलने के लिए मजबूर है।पहले जगह ज्यादा होने के कारण बच्चे खेलते थे. लेकिन अब वहॉ सरकारी हॉस्पिटल बन जाने के कारण जगह कम हो गया है.चॉद मे हमेशा से कई खिलाड़ी अपना योगदान जिले मे और जिले से बाहर दिया है .लेकिन अब ये प्रतिभाए धीरे-धीरे लुप्त होती जा रही है.बहुत से खिलाड़ी खेलते खेलते राज्य मे भी गये लेकिन अब मजबूर है ना उनको कोई सपोर्ट है ना खेल का मैदान.कई बार प्रतियोगिता कराया गया, और कई मुख्य अतिथि ने भी दावा किया कि यहॉ खेल मैदान जरूर बनेगा लेकिन सब जुमला ही दिख रहा है.यहॉ लगभग क्षेत्र के हर नेता समाजसेवी और अधिकारी भी आते है ,लेकिन खेल मैदान आज तक नही बन पाया. आप को बता दे की  हर साल चॉद मे फुटबाल प्रतियोगिता शहीद सदानंद और लालजी यादव के नाम पर उनके शहीद दिवस पर आयोजन किया जाता है.पूरे क्षेत्र से लगभग सभी गॉव के लोग भाग लेते है.खेल मैदान ना होने के कारण खेलने मे थोडी परेशानी होती है. जिसका जिक्र हर खिलाड़ी अपने अतिथि के सामने पेश करता है. लेकिन ना ही कोई नेता ना कोई समाजसेवी ना कोई अधिकारी इस पर आज तक जिक्र किया.खिलाड़ीयो के अध्यक्ष माननीय मुन्नू सिंह जी द्वारा कई सालो से खिलाड़ी के साथ प्रतियोगिता मे साथ देते है. और उनके आवाज को जिले तक ले जाते है .लेकिन उनका भी सुनने  वाला बातो पे ध्यान नही दिया.नेहरू क्लब से भी कई बार खेल कराया गया.


कैमूर टॉप न्यूज़ के लिए देवनाद पांडे की रिपोट



No comments