Header Ads

Kaimur Top News: ग्रह गोचरों के महासंयोग के साथ 10 फरवरी को मानेगा सरस्वती पूजा

कैमूर टॉप न्यूज़, कैमूर: ज्ञान की देवी का पर्व सरस्वती पूजा इस बार 10 फरवरी को मनाया जाने वाला है. इस संबंध में जानकारी देते हुए ज्योतिषविद आचार्य बागीश्वरी द्विवेदी ने बताया कि पंचांगों के अनुसार, इस वर्ष सरस्वती पूजा पर ग्रह गोचरों का महासंयोग बन रहा है. 

पूजा को लेकर मूर्ति की स्थापना करने वाले मां के भक्तों में गजब सा उत्साह देखने को मिल रहा है. वे एक सप्ताह पूर्व से ही अपने पूजा पंडालों की साफ सफाई के अलावे मनचाहे मूर्ति का निर्माण कराने में जुटे हुए हैं.शहर में स्टेडियम गेट के समीप तथा अखलासपुर पटिया स्थित के अलावा अन्य कई जगहों पर बाहर से आए कारीगरों द्वारा मां के मूर्ति का निर्माण किया जा रहा है. मां सरस्वती की मूर्ति की स्थापना करने वाले उन कारीगरों के पास पहुंचकर भव्य मूर्ति बनाने के लिए आर्डर कर रहे डेहरी और झारखंड से आए कई मूर्ति के कलाकार अपनी रचना से मां को अद्भुत रूप देने में जुटे हुए हैं.

बता दें कि अभी सरस्वती पूजा में करीब 1 सप्ताह शेष रह गए हैं. बावजूद कारीगर इन मूर्तियों को तैयार कर अब अंतिम रूप देने में जुटे हुए हैं. सरस्वती पूजा माघ महीने में हिंदू कैलेंडर के अनुसार, पंचमी के दिन मनाया जाता है. जिसे हिंदी भाषा में बसंत पंचमी भी कहा जाता है.इस दिन लोग पीले रंग के कपड़े पहन कर उनकी पूजा-अर्चना करते हैं. 

मां सरस्वती की प्रतिमा बनाते कारीगर.

6:40 से दोपहर 12:12 तक रहेगा शुभ मुहूर्त 

मां सरस्वती की पूजा करने का शुभ मुहूर्त सुबह 6:40 से दोपहर 12:12 तक रहेगा इन शुभ मुहूर्त में पूजा पंडालों में कलश स्थापना कर मां की पूजा अर्चना की जाएगी.सरस्वती पूजा के मौके पर विद्यालय के अलावे अन्य पूजा पंडालों में भी उनकी मूर्ति स्थापना कर भव्य पूजा और आरती की जाती है.बाहर से आए मूर्तिकार अपने हाथों से बनाई गई मूर्ति को 15 सौ से 10 हजार रुपए में बेच रहे हैं.

संवाददाता अभिषेक राज



No comments