Header Ads

पुलिस की आंखों मिर्च पाउडर झोंक कोर्ट परिसर से भागने के फिराक में था कुख्यात, एसपी के निर्देश पर बढ़ाई गई कोर्ट की सुरक्षा...




कैमूर टॉप न्यूज़, कैमूर: कई संगीन अपराध के आरोपित अरमान खान के जेल से भागे जाने की योजना के बारे में पता चलते ही एसपी दिलनवाज अहमद ने बुधवार को बंदियों की पेशी के दौरान सुरक्षा बढ़ाने का निर्देश जारी किया है. इस निर्देश के बाद मेजर ने अफसरों व जवानों द्वारा की जा रही ड्यूटी की बुधवार को औचकनिरीक्षण की. कुख्यात अरमान खान ने पेशी के दौरान पुलिस की आंखों में मिर्च डालकर भागने की योजना बनाई थी। लेकिन, मोबाइल पर बात करते वक्त इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस सतर्क हो गई और उसकी मंशा पर पानी फेर दिया. पूर्व में भी पेशी के दौरान भभुआ कोर्ट परिसर से कुछ बंदी भागे हैं. जिसे देखते हुए पुलिस अधीक्षक ने बंदियों की पेशी के दौरान सुरक्षा बढ़ाने का निर्णय लिया है.

एसपी ने बंदियों की पेशी के दौरान कचहरी परिसर की सुरक्षा व्यवस्था चौकस करते हुए पुलिस अफसरों व जवानों को अलर्ट रहने का निर्देश दिया है. उन्होंने कचहरी परिसर में सिविल ड्रेस में तैनात पुलिस की विशेष दस्ता को अपराधियों की आवाजाही व उनकी गतिविधियों पर कड़ी निगाह रखने और आशंका होने पर इसकी सूचना पुलिस कार्यालय को देने को कहा है. एसपी के निर्देश पर मेजर ने बुधवार को कचहरी परिसर की सुरक्षा में तैनात पुलिस अफसर व जवानों की ड्यूटी की औचक निरीक्षण करते हुए उन्हें अलर्ट किया.

ज्ञात हो कि मंडल कारा में बंद कुख्यात अरमान खान व उसके साथी पंकज यादव द्वारा यूपी एवं बिहार के मोस्ट वांटेड 50 हजार के इनामी सुनील यादव से मोबाइल पर बात कर पेशी के दौरान पुलिस कर्मियों की आंखों में मिर्ची डाल भागने की योजना बनाई थी. योजना की जानकारी मिलते ही एसपी ने जेल में छापेमारी करा कर  अरमान के पास मौजूद मोबाइल जब्त कराया.

कचहरी परिसर की सुरक्षा में तीन पुलिस अफसर व महिला- पुरुष जवान सहित  21 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं. उन्हें अत्याधुनिक हथियार व दो डोर मेटल डिटेक्टर तथा चार हैंड मेटल डिटेक्टर से लैस किया गया है. जो कचहरी में आने-जाने वाले व्यक्तियों की जांच के साथ उनकी निगरानी कर रहे हैं. किसी पर आशंका होने पर उनकी गतिविधियों पर भी नजर रखी जा रही है. कोर्ट सुरक्षा का प्रभार सब-इंस्पेक्टर अशोक कुमार को सौंपा गया है.

कचहरी मुख्य द्वार व जिला जज के कार्यालय के प्रवेश द्वार पर डोर मेटल डिटेक्टर मशीन लगाई गई है. अरमान के पास से जब्त मोबाइल की कैमूर पुलिस गहन जांच कर रही है. यूपी व बिहार में हत्या, लूट व रंगदारी के दर्जनों मामले के आरोपित अरमान खान पर कैमूर जिले में क्राइम कंट्रोल एक्ट लगाया गया है. जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र के सिरबिट गांव का रहने वाला कुख्यात अरमान पर दोनों राज्यों में दो दर्जन आपराधिक मामले दर्ज हैं. वर्ष 2012 में 14 मई को भभुआ न्यायालय में पेशी में आए कुख्यात अरमान ने गवाही देने कोर्ट में पहुंचे भभुआ थाना के सब-इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को धमकी दी थी कि कब तक पुलिस के साथ आकर गवाही दोगे. जिस दिन बिना पुलिस के गवाही देने आओगे उसी दिन जान से मार देंगे. कुख्यात अपराधी अरमान  का लूट रंगदारी जैसे  कई संगीन अपराध से नाता जुड़ा है. प्लानिंग की भनक लगते हीं एसपी ने कुख्यात अरमान सहित सभी बंदियों की पेशी के दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था का निर्देश कचहरी की सुरक्षा में लगाए गए पुलिस अफसर व जवानों को दिया है. छापेमारी के दौरान अरमान से जब्त मोबाइल में अंकित नंबर की जांच कराई जा रही है.


No comments