Header Ads

तमिलनाडु में बंधक बनाए मजदूर लौटे, दो अभी भी लापता ..


कैमूर टॉप न्यूज़, कैमूर: तमिलनाडु की एक पाइप फैक्ट्री के मालिक द्वारा भभुआ के बंधक बनाए गए 7 युवाओं में से 5 लौट आएं, जबकि 2 का अभी तक पता नहीं है. इसको लेकर उनके परिजन काफी चिंतित हैं.

मालूम हो कि 22 जुलाई की रात में वहां से भागकर  सूरज अपने गांव में 25 जुलाई की सुबह में पहुंचा था. मौका मिलते ही 25 जुलाई को वहां से जनार्दन कुमार व रवि शंकर भी भाग गए. लेकिन, यह दोनों अब तक अपने गांव नहीं पहुंच सके हैं.

कैमूर जिला प्रशासन की पहल पर तमिलनाडु पुलिस ने उक्त फैक्ट्री के मालिक के घर छापेमारी कर वहां से अमन कुमार उर्फ नंदलाल, महेश कुमार, सैय्यद अली और अंगद कुमार को बरामद किया. यह चारों युवक शनिवार की रात करीब 12:00 बजे अपने गांव पहुंचे.

लौट कर आए युवकों ने बताया कि वे सभी 16 जुलाई को अपने गांव से तमिलनाडु के लिए गए थे. उन्हें साबुन फैक्ट्री में काम करने के लिए बुलाया गया था. लेकिन, वहां जाने पर थ्री वारी पाइप कंपनी में काम दिया गया. यह कंपनी भेलूपुर में है. वहां उनसे जब भारी काम लेना शुरू किया गया तो युवकों ने करने से इनकार कर दिया, जिससे नाराज कंपनी मालिक ने उन्हें बंधक बना लिया था. युवकों को मुक्त करने के लिए वह उनसे 50 हज़ार रुपये की मांग कर रहा था. उसका कहना था कि इन युवाओं को बिहार से तमिलनाडु बुलाने में उसका इतना ही खर्च हुआ है.

रोहित ओझा की रिपोर्ट


No comments