Header Ads

दोस्तों ने ही कर दी कुख्यात की हत्या, एक गिरफ्तार ..


- तीन दिनों पहले तेनुआ गांव के दुर्गावती नदी के तट पर मिली थी प्रकाश की लाश
- एक को कैमूर पुलिस ने किया कोचस से गिरफ्तार, विक्की की कर रही है तलाश

कैमूर टॉप न्यूज़, कैमूर: रोहतास के कुख्यात प्रकाश पांडेय की हत्या में कैमूर व रोहतास के अपराधियों का हाथ है. हत्या करनेवाला कोई दूसरा नहीं बल्कि उसके साथी ही थे. इस मामले में पुलिस ने उसके साथी रोहतास जिले के कोचस स्थित रामपुर निवासी धीरेंद्र प्रताप सिंह को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दूसरे दोस्त कैमूर के सबार थाना क्षेत्र के सिसवार निवासी लक्की कुमार उर्फ आशीष सिंह की तलाश कर रही है. इस तरह पैसा के बंटवारे के विवाद में धीरेंद्र व लक्की ने प्रकाश की हत्या गोली मारकर कर दी.

एसपी दिलनवाज अहमद ने इस हत्या कांड का खुलासा किया और कहा कि लक्की के गिरेबान तक बहुत जल्द ही पुलिस के हाथ पहुंचेंगे और चंद ही दिनों में वह भी जेल की सलाखों के पीछे होगा. अपराधियों द्वारा घटना स्थल पर छोड़े गए साक्ष्य व वैज्ञानिक विधि से किए गए अनुसंधान से पुलिस धीरेंद्र तक पहुंची और वह पुलिस के हत्थे चढ़ा. धीरेंद्र ने इस घटना की जद्द के कारणों की जानकारी पुलिस को दी है. यहां यह चर्चा है कि लक्की ने ही प्रकाश को सबार क्षेत्र में लाने के लिए धीरेंद्र को सुझाया होगा.

मालूम हो कि चार अगस्त की रात में रोहतास जिले के नोखा थाना क्षेत्र के मणिपुर निवासी कुख्यात प्रकाश पांडेय की उसके दोस्तों ने गोली मार कर दी थी. अपराधियों ने इस घटना को अंजाम देने के लिए सबार थाना क्षेत्र के तेनुआ गांव के पास स्थित दुर्गावती नदी के तट का चयन किया था. साथ में होने और साथियों पर विश्वास कर प्रकाश उनके साथ यहां तक आया था. अगर उसे आशंका होती कि उसकी हत्या करने के लिए उसके दोस्त ले जा रहे हैं, तो वह नहीं आता. साथ में होने के कारण ही उसकी दायीं कनपटी में सटाकर गोली मारी गई थी. इसलिए उसने घटना स्थल पर ही दम तोड़ दिया था.

हालांकि, प्रकाश के खिलाफ लूट, आर्म्स एक्ट, रोड रॉबरी जैसे 14 आपराधिक मामले रोहतास और औरंगाबाद जिलों के विभिन्न थानों में दर्ज हैं. अपराधी खाने-पीने के नाम पर रोहतास से उसे कैमूर में लेकर आएं और गोली मारकर उसकी हत्या कर दी. रोहतास जिले के दरिगांव, नोखा, शिवसागर, तिलौथू के अलावा औरंगाबाद जिले के थानों में दर्ज हैं. फिलहाल वह जमानत पर था.

- रोहित ओझा


No comments