Header Ads

बच्चा चोर की अफवाह उड़ाकर निर्दोषों पर हाथ साफ करने वाले जाएंगे जेल, पुलिस बना रही सूची ..

फ़ाइल इमेज

कैमूर टॉप न्यूज़, भभुआ : जिले में पिछले दो-तीन दिनों अफवाहों की लड़ी लगी हुई है. बच्चा चोर व आंख निकालने वाला बोल कर लोगों की भीड़ जुट कर पिटाई करने लगती है. अब अफवाह फैलाने वालों को चिह्नित करने व उस पर कार्रवाई करने की बात कही जा रही है. इसके लिए सोशल मीडिया पर भी नजर रखी जा रही है. एसडीएम जन्मेजय शुक्ला ने बताया कि भभुआ अनुमंडल के सीओ व थानाध्यक्षों के साथ बैठक कर निर्देशित किया गया है कि अफवाह फैलाने वालों पर ध्यान रख कर उस पर प्राथमिकी दर्ज कराते हुए कार्रवाई करें. उन्होंने कहा कि सीओ अपने कर्मचारी व थानाध्यक्ष चौकीदार के माध्यम से लोगों तक ये बात फैलाएं कि अगर कोई भी बात हो तो पुलिस से संपर्क करें. भीड़ द्वारा उग्र होकर किसी पर आरोप लगाकर पिटाई करना गलत बात है. ऐसे में मॉब लिचिंग की घटना हो सकती है. कानून को हाथ में लेना कानून अपराध है. ऐसे में सभी पर कार्रवाई हो सकती है. एसडीएम ने बताया कि जितने विक्षिप्त को बच्चा चोर व आंख निकालने वाला कह कर मारा पीटा जा रहा था. उन मामलों की जांच कराई गई जिसमें सभी मामले झूठे पाए गए है. अब तक जिले में कहीं से भी बच्चा चोरी का मामला प्रकाश में नहीं आया है.

ज्ञात हो कि पिछले तीन दिनों में पुलिस ने पहुंच कर लोगों को बचाने में कामयाब रही. जिससे मॉब लिंचिंग की घटना में आरोप लगाए गए युवक की मौत होते होते बच गई. जिले में मंगलवार की संध्या में एक विक्षिप्त को पब्लिक द्वारा मारा पीटा जा रहा था और उसे बच्चा चोर कहा जा रहा था. मौके पर मोहनियां पुलिस ने विक्षिप्त को हिरासत में लेते हुए थाना ले आए. वहीं, बुधवार को दुर्गावती के तिरोजपुर में विक्षिप्त को बच्चा चोर के आरोप में लोगों द्वारा पीटा जा रहा था. जहां विक्षिप्त को बचाने गई पुलिस पर लोगों ने हमला कर दिया. वहीं, बस में सवार होकर इलाज कराने जा रहे दंपत्ति को लोग बच्चा चोर कह कर पीट रहे थे. जहां पुलिस ने अफवाह फैलाने वाले को गिरफ्तार कर के जेल भेज दिया. वहीं भगवानपुर में सुगीयापोखर व अन्य गांवों से तीन विक्षिप्त को भी हिरासत में लिया जिसे लोग बच्चा चोर व आंख निकालने वाला कह कर पीट रहे थे. सभी मौके पर पुलिस ने ही लोगों की मदद की.

कार्रवाई करने के लिए पुलिस कर रही है लोगों को चिह्नित:

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अभी जहां भी विक्षिप्तों को मारने पीटने का मामला सामने आई है. वहां पर अफवाह उड़ाने वाले को चिह्नित किया जा रहा है. उनको चिह्नित कर के शीघ्र कार्रवाई करने की रणनीति भी बनाई जा रही है. अफवाह फैलाने वालों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा.

- रोहित ओझा 


No comments